बीते साल में सबसे चर्चित आईएएस अधिकारी केके पाठक कौन हैं, जानें उनकी पूरी जीवनी तथा नेटवर्थ 2024

0
(0)

कौन हैं केके पाठक?

बिहार के सरकारी स्‍कूल के शिक्षकों और आम आदमी के बीच चर्चा का विषय बने केके पाठक भारत के1990 बैच के आईएएस अधिकारी हैं।वर्तमान में वे बिहार के शिक्षा विभाग के अपर मुख्‍य सचिव है। बराबर एक्टिव मोड में रहने वाले पाठक पिछले कई महिनों से बिहार के सरकारी स्‍कूलों की पढ़ाई के बारे में जायजा ले रहे हैं जिससे लापरवाह शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है। उन्‍होने एक अजीबोगरीब फैसले में कर्मचारियों के जींस और टी-शर्ट पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया है। उन्‍होंने स्‍कूल पीरियड के दौरान कोचिंग कक्षाओं के संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया है। वह दो बार केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्ली में भी काम कर चुके हैं और 2021 में बिहार लौट आए।

Table of Contents

केके पाठक का जन्‍म और माता पिता

केके पाठक का जन्म 15 जनवरी 1968 को उत्तर प्रदेश में हुआ था। उनका पूरा नाम केशव कुमार पाठक है। उनके पिता का नाम मेजर जी. एस. पाठक था जो कभी बिहार के लघु जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव थे। वे मकर राशि के इन्‍सान है तथा वे शाकाहारी हैं।

केके पाठक
केके पाठक

केके पाठक की शिक्षा-दीक्षा

श्री पाठकबचपन से पढ़ाई में मेधावी थे। उन्होंने दो महत्वपूर्ण डिग्रियां हासिल कर रखी हैं।उन्होंने अर्थशास्त्र से स्नातक किया है। इसके बादउन्होंने अर्थशास्त्र से ही एम. फिल किया।यूपीएससीमें उनकी रैंक टॉप 40 में थी।

इसे भी पढ़ें — एक आर्मी ऑफिसर की बेटी अनुष्का शर्मा फिल्‍म अभिनेत्री कैसे बनी, जानिए उसका जीवन परि‍चय और नेट वर्थ

केके पाठक की उम्र

पाठक की उम्र अभी 56 वर्ष है।

केके पाठक की शारीरिक बनावट

केके पाठक सामान्‍य कद काठी के है जिनकी लंबाई 5 फीट 6 इंच यानी 169 सेंटीमीटर है और वजन 70 किलो है। इनके आँखों का रंग काला तथा बाल भी काले है। इनके शारीरिक फिगर का आँकड़े 37-30-24 है।

के के पाठक की संपूर्ण जीवनी

प्रसिद्ध नामकेके पाठक
उपनामपाठक
पूरा नामकेशव कुमार पाठक
जन्‍म ति‍थि15 जनवरी 1968 (सोमवार)
जन्‍म स्‍थानउत्‍तर प्रदेश
उम्र56वर्ष
माताश्रीमती मेजर जीएस पाठक
पितामेजर जीएस पाठक
भाईउपलब्‍ध नहीं
बहनउपलब्‍ध नहीं
पेशाआईएस अधिकारी
राष्‍ट्रीयताभा‍रतीय
राशि-चक्रमकर
जातिब्राह्मण (हिंदू)
शैक्षणिक योग्‍यताएमए (अर्थशास्‍त्र) एम फिल
स्‍कूलज्ञात नहीं
कॉलेजज्ञात नहीं
वैवाहिक स्थितिवैवाहिक
पत्‍नीज्ञात नहीं
बाल-बच्‍चेश्रेया पाठक, शशांक पाठक
वजन70 किलो
लंबाई5 फिट 6 इंच
कुल संपत्ति₹2 करोड़ रुपये लगभग

केके पाठक का करियर

केके पाठक
केके पाठक

केके पाठक 1990 बैच के बिहार कैडर के आइएएस अधिकारी हैं। उनकी पहली पोस्टिंग बिहार के कटिहार जिले में हुई तथा बाद में वे पटनाके जिला कलक्‍टर बनें। इसके बाद वे गिरिडीह के उपायुक्‍त तथा स्‍वस्‍थ्‍य सचिव भी बनें।

इसे भी पढ़ें — अथलीट बनने की चाह रखने वाली सिमरत कौर अभिनेत्री कैसे बन गई

2005 में वे बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकरण के एमडी की जिम्‍मेवारी निभाते हुए उनको बिहार आवास बोर्ड का सीएमडी बनाया गया।

केके पाठक 2010 में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर दिल्‍ली चले गए। 2015 में वे फिर बिहार आ गये। 2019 में पाठक को राष्‍ट्रीय राजमार्ग और बुनियादी ढाँचा विकास निगम लिमिटेड यानी एनएचआईडीसीएल के प्रबंध निदेशक के पद पर नियुक्ति हुई।  2016 के दौरान शराबबंदी अभियान में उन्‍हें जिम्‍मेवारी मिली। फिर उन्‍हें 2021 में उत्‍पाद एवं मद्य निषेध विभाग का अपर मुख्‍य सचिव का पदभार मिला जिसे उन्‍होंने काफी जिम्‍मेदारी से निभाया।

उनको सार्वजनिक प्रशासन, औद्येगिक प्रचार, ढ़ाँचागत विकास तथा ग्रामीण विकास में उनका योगदान काफी सराहनीय रहा। इसके आलावा वे बिपार्ड के महानिदेशक के रूप में भी वह कार्यरत रहे।

अभी वर्तमान में बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के प्रयास से वे बिहार के शिक्षा विभाग के अपर सचिव हैं। बिहार के गिरती हुई शिक्षा व्‍यवस्‍था को सुधारने के लिए उन्‍हें यह जिम्‍मेदाी सौंपी गई है।

केके पाठक का मिशन दक्ष

अपर शिक्षा सचिव केके पाठक ने दक्ष नाम से एक मिशन शुरू किया है। यह मिशन 10 हजार शिक्षकों के लिए है। वे शिक्षक 50 हजार बच्चें जो पढ़ने में काफी कमजोर हैं उन्‍हेंगोद लेकर अलग से पढ़ाई कराकर उसे आगे बढ़ाना है। ऐसी व्‍यवस्‍था केवल 10वीं और 12वीं कक्षा के शिक्षक के लिए है। हर शिक्षक को पाँच बच्‍चे गोद लेना है।

उन बच्‍चों को अपने नजदीकी प्राथमिक या मध्य विद्यालय से बच्चों को अपने स्कूल में लाना होगा। शिक्षक अपनी कक्षाओं के बाद या दोपहर में इन बच्चों को अपने स्कूल में पढ़ाने और सीखने में मदद करेंगे। मिशन दक्ष अभियान शुरू हो गया है।

केके पाठक के कई कड़े फैसलें

केके पाठक
केके पाठक

विद्यालय से गायब शिक्षकों का वेतन काटा जायगा—-जो शिक्षक बिना किसी सूचना के स्कूल नहीं आते हैं, उनके वेतन से पैसे काटे जा रहे हैं। उन्हें पत्र देकर यह भी पूछा जा रहा है कि वे बिना किसी को बताए स्कूल क्यों नहीं आ रहे हैं।

मुझे गाँव में पढ़ाना है—कुछ दिन पहले केके पाठक ने सभी नये शिक्षकों से कहा था कि अपने अच्‍छे से पढ़े है इसलिए यहाँ तक पहुँचे हैं। अब, गाँव के बच्चे उनकी वजह से सीख सकते हैं और आगे बढ़ सकते हैं। ये शिक्षक गाँव में पढ़ाएँगे, और यह महत्वपूर्ण है कि वे गाँव के वातावरण में पढ़ाने का आनंद लें।

हमें अपने स्कूल को बेहतर बनाने के लिए विकास निधि में बचाए गए धन का उपयोग करने की आवश्यकता है—केके पाठक ने छात्रों और विद्यालय विकास के लिए बने विशेष कोष में कुछ राशि डालने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि अगर इस पैसे का इस्तेमाल नहीं किया गया तो इसे वापस सरकार के बैंक खाते में डाल दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि पैसे का इस्तेमाल करने का यह आखिरी मौका है क्योंकि शिक्षा विभाग ने पहले ही लोगों को इसे खर्च करने के लिए आदेश दे दिया है।

छात्रों की अनुपस्थिति 15 दिन से अधिक रहने पर नाम काटने का आदेश—केके पाठक के आदेश पर अब स्कूल में 15 दिन से अधिक अनुपस्थित रहने पर नाम काटने के आदेश दिए गए हैं। अब तक 20 लाख से ज्यादा बच्चों के नाम काटे जा चुके हैं। इस कार्रवाई के बाद बच्चों में अनुपस्थिति कम हो गयी है।

इसे भी पढ़ें– वर्ल्‍ड कप 2023 मैच को छोड़कर अपने घर क्‍यों लौटा मिशेल मार्श

शिक्षकों के स्थानांतरण एवं प्रतिनियुक्ति पर प्रतिबंध—पाठक ने शिक्षकों के स्थानांतरण व प्रतिनियुक्ति पर रोक लगा दिया है।माध्यमिक शिक्षा निदेशक कन्हैया प्रसाद श्रीवास्तव के अनुसार आरडीडीई और डीईओ कार्यालय से बड़ी संख्या में शिक्षकों का स्थानांतरण और प्रतिनियोजन किया जाता है, जिससे स्कूलों में शिक्षण और कार्यालय कार्य बुरी तरह होता रहता है।

शिक्षकों की छुटियों से संबंधित नया आदेश—अब एक बार में अधिकतम 10 फीसदी स्कूली शिक्षकों को ही छुट्टी मिल सकेगी। पाठक ने इस संबंध में सभी जिलों को आदेश जारी कर दिया है।उन्‍होंने जिलों को शिक्षकों के छुट्टी लेने के रवैये पर रोक लगाने और यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि स्कूल में एक समय में 10 प्रतिशत से अधिक शिक्षकों को छुट्टी नहीं दी जायेगी।

पाठक ने डीएम व डीडीसी को भेजा पत्र—पाठक ने सभी डीएम और डीडीसी को आवश्यक पहल करने के लिए पत्र प्रेषित कर दिया है। पत्र में केके पाठक ने कहा है कि बोर्ड की वार्षिक परीक्षाएं 1 फरवरी से शुरू होनी हैं। ऐसे में जरूरी है कि सभी शिक्षक बच्चों को ठीक से पढ़ाएं और स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति बेहतर हो।

शिक्षकों पर सख्त अनुशासन बनाये रखने की जरूरत है। पाठक ने कहा है कि बिहार लोक सेवा आयोग से चयनित करीब 50 शिक्षक योगदान देने के बाद गायब हो गये हैं। ऐसे गायब शिक्षकों को निलंबित कर उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई शुरू करें।

पाठक को फेम इंडिया मैगजीन में स्‍थान मिला

2021 में फेम इंडिया नाम की पत्रिका ने भारत सरकार के लिए काम करने वाले 50 महत्वपूर्ण ब्‍यूरोक्रेट्स की सूची बनाई। उनमें केके पाठक का नाम भी था।

केके पाठक की वैवाहिक स्थिति

वे विवाहित हैं। पत्‍नी का नाम श्रीमती मेजर जीएस पाठक है।

केके पाठक के बाल-बच्‍चें

उनके दो बच्चे हैं। उनके बेटे शशांक पाठक 2017 बैच के गोपालगंज, बिहार में सेवारत एक आईएएस अधिकारी हैं। उनकी बेटी, श्रेया पाठक, एक वकील हैं, जिन्होंने बैंगलोर में नेशनल लॉ स्कूल ऑफ़ इंडिया यूनिवर्सिटी से स्नातक की उपाधि प्राप्त की है।

इसे भी पढ़ें—मिलिए कोला किंग के मालिक रवि जयपुरिया से जिनकी नेटवर्थ 15 बिलियन डॉलर से अधिक है

केके पाठक: विवाद तथा घोटाले

केके पाठक बेशक एक कड़े मिजाज के सुधारवादी प्रवृत्ति के आईएएस अधिकारी हैं जो बिहार आकर यहाँ की शिक्षा व्‍यवस्‍था में सुधार लाना चाहते हैं। फिर कुछ लोग इनको विवादास्‍पद अघिकारी मानते है। पाठक कई विवादों और आलोचनाओं से घिरे रहे हैं:—

पाठक ने 1990 में, जब वे गिरिडीह के डिप्‍टी कमिश्‍नर थेतो उन्होंने कथित तौर पर एक रिपोर्टर को चोट पहुंचाई क्योंकि रिपोर्टर ने उनके बारे में कुछ गलत कहा था।

2018 में, एक जज ने कहा कि उसे पैसे देने होंगे क्योंकि उसने कुछ गलत किया है। उन्होंने अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल किया और 2016 में सात बैंक मैनेजरों पर अपना काम ठीक से नहीं करने का आरोप लगाया।

2023 में, उन्हें उत्पाद शुल्क और निषेध नामक विभाग में कुछ महत्वपूर्ण लोगों के साथ दुर्व्यवहार करते हुए एक वीडियो में पकड़ा गया था। यह वीडियो इंटरनेट पर काफी लोकप्रिय हुआ। वह सड़क के नियमों का पालन न करने के लिए शहर के लोगों पर क्रोधित था, और उसने अच्छा काम न करने के लिए एक महत्वपूर्ण व्यक्ति को दोषी ठहराया।

पाठक ने एक अन्य महत्वपूर्ण समूह के बारे में भी कुछ घटिया बातें कहीं। बहुत से लोग वास्तव में उस पर क्रोधित हो गए, जिसमें मीडिया और वह समूह भी शामिल था जिसका उसने अपमान किया था। वे चाहते थे कि उसकी नौकरी चली जाये।

बिहार सरकार के मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन मंत्री ने कहा कि उन्होंने जो किया है, उससे उन्हें परेशानी होगी. जिस समूह का उसने अपमान किया वह भी पुलिस के पास गया और उसके बारे में रिपोर्ट दर्ज कराई।

2019 में उन पर घटिया बातें कहने और कुमुद राज सिंह नाम के किसी शख्स को चोट पहुंचाने की धमकी देने का आरोप लगा था। वह उस समय लघु सिंचाई नामक विभाग के प्रभारी थे।

केके पाठक: बिहार के शिक्षा मंत्री से खटपट

बिहार के शिक्षा मंत्री चन्द्रशेखर शिक्षा विभाग के संचालन के तरीके से खुश नहीं थे। उन्होंने 4 जुलाई 2023 को केके पाठक को पत्र लिखकर अपना असंतोष व्यक्त किया. पाठक, जो विभाग के प्रभारी थे, ने कुछ बदलाव किए जिससे लोग नाराज हो गए, जैसे उस नियम से छुटकारा पाना जिसमें कहा गया था कि केवल बिहार के लोग ही शिक्षक हो सकते हैं और शिक्षकों को जींस और टी-शर्ट पहनने की अनुमति नहीं है।

चन्द्रशेखर के सहायक ने पाठक को एक गुप्त पत्र भेजा, लेकिन यह ठीक नहीं हुआ क्योंकि पाठक ने सहायक को अब विभाग में नहीं आने दिया। पाठक ने कहा कि सहायक ने पत्र मीडिया को दिया, जिससे बड़ा विवाद हुआ। 6 जुलाई 2023 को चन्द्रशेखर ने लालू प्रसाद यादव से बात की और उन्हें सारी बात बताई. यादव ने चन्द्रशेखर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने को कहा।

केके पाठक की कुल संपत्ति या नेटवर्थ

उपलब्‍ध रिपोर्टों के आधार पर केके पाठक की कुल संपत्ति लगभग रु 2 करोड़ आँकी गई है।

केके पाठक के बारे में कुछ कम ज्ञात तथ्य

  • केके पाठक एक भारत में आईएएस पदाधिकारी हैं।
  • पाठककाफीकड़ास्‍वभाव के आईएएस अधिकारी हैं।
  • केक पाठक का पूरा नाम केशव कुमार पाठक हैं।
  • उन्होंने कुछ ऐसे काम किये जिससे लोग नाराज हो गये।उसका अपने सहकर्मियों के साथ दुर्व्यवहार का एक वीडियो था जिसे बहुत से लोगों ने इंटरनेट पर देखा।
  • 2018 में पटना उच्‍च न्‍यायालय ने पाठक पर 175,000 रुपये का जुर्माना लगा दिया था।
  • वह काफी पहले से सरकार के लिए काम कर रहे हैं। पिछले दिनों उन्होंने कुछ ऐसा किया जिससे एक राजनेता उनसे नाराज हो गए।
  • उनके पास एक विभाग में एक महत्वपूर्ण नौकरी भी थी, लेकिन उनके एक निर्णय के कारण उन्हें दूसरी नौकरी में स्थानांतरित कर दिया गया। उनके पास सरकार में कई महत्वपूर्ण नौकरियां थीं।
  • हाल ही में वह सड़क बनाने वाली एक कंपनी के बॉस बने हैं।
  • वह बिहार के लोगों की मदद करने वाले एक समूह का बॉस भी बन गया।
  • उन्हें उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग का प्रभारी भी बनाया गया था।
  • उन्होंने लोगों से कहा कि अगर उन्हें शराब से कोई परेशानी हो तो वे उन्हें फोन करें।
  • वह एक स्कूल के प्रभारी भी हैं जो सरकार के लिए काम करने वाले लोगों को प्रशिक्षित करता है। अपने सहकर्मियों के प्रति बुरे बर्ताव के वीडियो से पता चलता है कि वह पहले भी इस तरह का काम कर चुका है।

केके पाठक: पसंदीदा

भोजन —– घर का बना शाकाहारी भोजन

अभिनेता— शाहरुख खान

अभिनेत्री—- हेमा मालिनी

रंग— काला, नीला

खेल— क्रिकेट

गायक— लता मंगेशकर

खिलाड़ी—- सचिन तेंदुलकर

गंतब्‍य स्‍थान — मुंबई

अक्‍सर लोग जा पूछते हैं FAQ

वर्तमान में केके पाठक कौन है?

पाठक अभी बिहार सरकार के शिक्षा विभाग में अपर मुख्य सचिव हैं।

केके पाठक कब रिटायर होंगे?

पाठक का15 जनवरी 2028 को रिटायर होंगे।

क्‍या केके पाठक पर पटना हाई कोर्ट ने जुर्माना लगाया था?

हाँ, 2008 में पटना हाई कोर्ट ने उन्हें सज़ा के तौर पर कुछ पैसे भी जुर्माना लगाया था।

केके पाठक की उम्र क्‍या है?

उनकी उम्र 55 वर्ष है।

क्‍या केके पाठक विवाहित हैं?

हाँ, वे विवाहित हैं।

निष्कर्ष– दोस्तों, ये हैं केके पाठक की पूरी जीवनी। वर्तमान में केके पाठक बिहार के शिक्षा विभाग में अपर मुख्‍य सचिव हैं। हमें उम्मीद है कि आपको ब्लॉग पसंद आया होगा. अगर आपको यह पसंद आए तो कृपया सूचित करें और इसे अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करें। यदि आपके पास कोई फीडबैक है तो हमें Contact Us फॉर्म के माध्‍यम से जरूर बताएं, आप मुझे ईमेल कर सकते हैं या सोशल मीडिया पर मुझे फॉलो कर सकते हैं। हम आपसे जल्द ही एक नए ब्लॉग के साथ मिलेंगे, तब तक मेरे ब्लॉग पर बने रहें, धन्यवाद।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

error: Content is protected !!
बॉलीवुड के 10 सबसे अमिर अभिनेता, जिनका नेट वर्थ आपको कर देगी हैरान केरल में “सालार मूवी” 300+ स्‍क्रीन्‍स पर आज 6 बजे लाइव रिलीज होगी कैटरीना कैफ, विक्की कौशल के साथ एक्शन फिल्म करने को हैं बेताब अपने कठिन मेहनत के बल पर जिरो से हिरो बने भारतीय फिल्म स्टार जानिए 2023 का मिस यूनिवर्स का खिताब कौन जीता ये पांच भारतीय अरबपति, जो छोटे गांवों में रहकर करते है अरबो का कारोबार बॉलीवुड की मशहूर निर्देशिका फराह खान की वापसी शालिनी और हनी का हुआ तलाक, हनी ने भरी मोटी रकम जानें कैसे हुआ समझौता कमल हासन और मणि रत्नम की नई फिल्म थग लाइफ का टीज़र हुआ रिलीज़, धमाकेदार एक्‍सन के साथ रश्मिका मंदाना का डीपफेक वीडियो वायरल, अमिताभ बच्चन ने जताई चिंता अनूष्का और विराट की लग्जवरी लाइफ देखकर आप भी चौक जाएंगे। चंडीगढ़ में अरिजीत सिंह के शो को मिली मंजूरी, होंगे लाइव शो, देखना मिस मत करें जानिए पाकिस्तान की पहली मिस यूनिवर्स एरिका रॉबिन को पहले शादी से इंकार करने वाली विद्या बालन की जीवन-यात्रा बागेश्वर धाम 2023 में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के अनकही यात्रा की कहानी