केरल को संवारने वाले 79 वर्षीय ओमन चांडी चल बसे, प्रधानमंत्री ने गहरी संवेदना व्‍यक्‍त की (79-year Old Oommen Chandy Passed Away, Prime Minister Expressed Deep Condolences)

0
(0)

भारत के केरल राज्‍य के पूर्व मुख्‍यमंत्री ओमन चांडी का देहांत आज दिनांक 18 जुलाई 2023 मंगलवार को शुबह साढ़े चार बजे हो गया। वह 79 वर्ष के थे। उनका कैंसर का इलाज बेंगलुरु के एक नीजी अस्‍पताल मे चल रहा था जहाँ उनका निधन हो गया।

केरल सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री के सम्मान में दो दिन के शोक के साथ-साथ मंगलवार को सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है।

केरल के दो बार मुख्‍यमंत्री रहे स्‍व. ओमन चांडी एक अनुभवी कांग्रेस नेता थे जो चार दशकों से अधिक समय से राजनीति में सक्रिय थे। वह दस बार केरल राज्य विधान सभा के सदस्‍य रह चुके थे।

इसे भी पढ़ेंरवीन्‍द्र महाजनी का निधन कैसे हुआ?

उनका मुख्‍यमंत्रीत्‍व काल 2004 से 2006 तक तथा 2011 से 2016 तक रहा। इस काल में उन्‍होंने राज्‍य के विकास के लिए 100-दिवसीय कार्यक्रम के तहत 107 कार्यक्रम पेश किए। आमन चंडी के कुशल नेतृत्व में राज्य सरकार इन 107 कार्यक्रमों में से 101 को लॉन्च करने में सफल रही।

ओमन चांडी का जन्‍म और परिवार

अनुभवी नेता स्‍व. ओमन चांडी का जन्म 31 अक्टूबर 1943 को केरल के कोट्टायम जिले के कुमारकोम में के.ओ. चांडी (पिता) तथा बेबी चांडी (माता) के यहाँ हुआ था। उन्होंने अपनी विश्वविद्यालय की शिक्षा सीएमएस कॉलेज, कोट्टायम और चंगनास्सेरी के एसबी कॉलेज से पूरी की। उन्होंने एर्नाकुलम के सरकारी लॉ कॉलेज से कानून में स्नातक की डिग्री (एलएलबी) भी प्राप्त की।

ओमन चांडी
ओमन चांडी
ओमन चांडी
ओमन चांडी

जहाँ तक उनकी शादी की बात है तो ओमन चांडी की शादी मरियम्मा ओमन से हुई है और उनसे उनके तीन बच्चे हैं। 2016 के केरल विधानसभा चुनावों से पहले, चांडी ने घोषणा की कि उनके पास नकदी नहीं है। उनके पास 3.21 करोड़ रुपये की चल संपत्ति है। उनकी पत्नी के पास 75 लाख रुपये की अचल संपत्ति है।

ओमन चांडी राजनीति में कैसे आए?

ओमन चांडी अपने कॉलेज के दिनों में केरल छात्र संघ सदस्‍य बनें। वह संघ के अध्‍यक्ष दो साल यानि 1967 से 1969 तक रहे। चांडी को 1970 में राज्य युवा कांग्रेस का अध्यक्ष बनाय गया।

वह पुथुपल्‍ली विधानसभा क्षेत्र से सन् 1970, 1977, 1980, 1982, 1987, 1991, 1996, 2001, 2006 और 2011 में सदस्‍य के रूप में चुने गये। ओमन चांडी ने 1996 -1998 के दौरान लोक लेखा समिति के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किये थे।

ओमन चांडी के मंत्रीत्‍वकाल

ओमन चांडी
ओमन चांडी

स्‍व. ओमन चांडी ने केरल राज्‍य के कैबिनेट में चार बार मंत्री रहे। वह 11 अप्रैल 1977 से 27 अक्टूबर 1978 तक श्रम मंत्री रहे। उन्होंने 28 दिसंबर 1981 से 17 मार्च 1982 तक के. करुणाकरण के दूसरी सरकार में राज्य के गृहमंत्री के रूप में कार्य किया। ओमन चांडी को फिर से 2 जुलाई 1991 को के. करुणाकरण की सरकार में वित्तमंत्री बनाया गया।

शुभकामनाओं का दौर

ओमन चांडी के निधन से राजनीतिक जगत में शोक की लहर छा गया है। विभिन्‍न राजनीतिक दलों के नेताओं ने उनके निधन पर शोक और शुभकामना व्‍यक्‍त कर रहे हैं। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेताओ में मल्लिकार्जुन खड़गे, प्रियंका गांधी और शशि थरूर ने अपनी संवेदना व्‍यक्‍त की है।

प्रधानमंत्री नरे्ंद्र मोदी — केरल के पूर्व मुख्‍यमंत्री के निधन पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट के जरिए शोक व्‍यक्‍त किया है। अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री ने लिखा है “श्री ओमन चांडी जी के निधन से, हमने एक विनम्र और समर्पित नेता खो दिया है, जिन्होंने अपना जीवन सार्वजनिक सेवा के लिए समर्पित किया और काम किया।” केरल की प्रगति. मुझे उनके साथ अपनी विभिन्न बातचीत याद हैं, खासकर जब हम दोनों अपने-अपने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के रूप में काम करते थे, और बाद में जब मैं दिल्ली चला गया। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और समर्थकों के साथ हैं। उसकी आत्मा को शांति मिलें।”

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी — राहुल गांधी ने अपनी श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट में लिखा है “ओम्मेन चांडी जी एक अनुकरणीय जमीनी स्तर के कांग्रेस नेता थे। उन्हें केरल के लोगों की आजीवन सेवा के लिए याद किया जाएगा। हम उसे बहुत याद करेंगे। उनके सभी प्रियजनों को बहुत सारा प्यार और संवेदनाएँ।”

कांग्रेस के महासचिव प्रियंका गांधी बाड्रा — कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी एक ट्विटर पोस्ट में चांडी के निधन पर शोक व्यक्त किया, उन्होंने लिखा, “श्री ओमन चांडी के परिवार के प्रति गहरी संवेदना। वह कांग्रेस पार्टी के एक स्तंभ थे, एक ऐसे नेता जिन्होंने अपना जीवन सेवा के लिए समर्पित कर दिया और उन मूल्यों के प्रति गहराई से प्रतिबद्ध थे जिनके लिए हम आज लड़ रहे हैं। हम सभी उन्हें बहुत सम्मान के साथ याद करेंगे और उनकी बुद्धिमान सलाह को याद करेंगे।”

चांडी के निधन पर शोक और संवेदना व्‍यक्‍त करने वालो में कांग्रेस अध्‍यक्ष मल्लिकार्जुन, केरल के वरिष्ठ कांग्रेस नेता सांसद शशि थरूर, समाजवादी पार्टी सुप्रीमो अखिलेश यादव, पूर्व कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के नेता ई. टी. मुहम्मद बशीर और केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन प्रमुख है, जिन्‍होंने शोकाकुल परिवार के प्रति गहरी संवेदना जताई है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

error: Content is protected !!
बॉलीवुड के 10 सबसे अमिर अभिनेता, जिनका नेट वर्थ आपको कर देगी हैरान केरल में “सालार मूवी” 300+ स्‍क्रीन्‍स पर आज 6 बजे लाइव रिलीज होगी कैटरीना कैफ, विक्की कौशल के साथ एक्शन फिल्म करने को हैं बेताब अपने कठिन मेहनत के बल पर जिरो से हिरो बने भारतीय फिल्म स्टार जानिए 2023 का मिस यूनिवर्स का खिताब कौन जीता ये पांच भारतीय अरबपति, जो छोटे गांवों में रहकर करते है अरबो का कारोबार बॉलीवुड की मशहूर निर्देशिका फराह खान की वापसी शालिनी और हनी का हुआ तलाक, हनी ने भरी मोटी रकम जानें कैसे हुआ समझौता कमल हासन और मणि रत्नम की नई फिल्म थग लाइफ का टीज़र हुआ रिलीज़, धमाकेदार एक्‍सन के साथ रश्मिका मंदाना का डीपफेक वीडियो वायरल, अमिताभ बच्चन ने जताई चिंता अनूष्का और विराट की लग्जवरी लाइफ देखकर आप भी चौक जाएंगे। चंडीगढ़ में अरिजीत सिंह के शो को मिली मंजूरी, होंगे लाइव शो, देखना मिस मत करें जानिए पाकिस्तान की पहली मिस यूनिवर्स एरिका रॉबिन को पहले शादी से इंकार करने वाली विद्या बालन की जीवन-यात्रा बागेश्वर धाम 2023 में धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के अनकही यात्रा की कहानी